Skip to content

अश्लील पुस्तक : बहन ने मुझे रिझाया

फ्रेंड्स
मैं राहुल, उम्र २६ वर्ष तो लंबाई छह फीट साथ ही देखने में सुंदर और अविवाहित भी लेकिन मैने जीवन में पहली बार काम क्रिया का मजा अपनी बहन के साथ लिया जिसकी शादी जल्द ही होनेवाली है लेकिन विनिता मेरे साथ सम्भोग क्रिया अपनी इच्छा से की तो मुझे उसके साथ शारीरिक संबंध बनाना अच्छा लगा, ये बात तीन साल पहले की है और तभी विनिता २० वर्ष की कच्ची कली थी तो मैं २३ साल का लड़का जिसको हस्तमैथुन की आदत पड़ गई थी और फिर दोनों कैसे एक दूसरे की ओर आकर्षित होकर सेक्स किए ये पढ़िए। विनिता देखने में खुबसूरत थी साथ ही लंबाई ५’६ इंच तो चूचियां सुडौल, कमर पतली तो काली जुल्फें लम्बी, उसके गोल नितंब और उसके दोनों भाग का आपस में टकराना देख मन तड़प उठता था लेकिन कभी उसे नंगा नही देखा था, घर में वो प्रायः स्कर्ट और टॉप्स पहनती थी तो कॉलेज कुर्ती और लेगिंग्स या कभी कभार जींस और टॉप्स पहनकर जाती थी और एक शाम मैं अनायास उसके रूम में घुसा तो दरवाजा खुला था साथ ही वो पट अवस्था में लेटकर कोई किताब पढ़ रही थी तो रूम में घुसने की आहट उसे नहीं सुनाई दी और मुझे उसके स्कर्ट जोकि घुटनों से थोड़ा ऊपर था और नितंब की गोलाई के आकार को दिखा रहा था का दर्शन हुआ, मेरा तो लन्ड पैजामे में टनटना उठा और उसके दोनों पैर जोकि फैले थे के कारण मैं उसके पेंटी को भी देख पाया, फिर मैं धीमे स्वर में बोला ” क्या पढ़ रही हो विनिता
( वो हड़बड़ा कर उठी तो चूतड का हिस्सा दिखा ) बस यों ही कोई मैगजीन पढ़ रही हूं ” और वो उठकर बैठी लेकिन उस किताब को तकिया के नीचे घुसा दी तो मैं उसके बेड पर बैठा फिर उसके चेहरे की रंगत उड़े हुए देख पूछा ” क्या बात है तुम कुछ परेशान लग रही हो
( वो शर्मिंदगी महसूस कर रही थी और चुप रही ) आखिर बात क्या है बताओ ” फिर मैं उसके तकिया की ओर हाथ बढ़ाया लेकिन वो मेरा हाथ पकड़ ली ” ओह जरा कौन सी मैगजीन तुम पढ़ रही थी उसे देख लूं
( वो मेरा हाथ छोड़ दी ), ठीक है देख लो लेकिन मॉम को मत बताना ” मैं किताब लिया फिर उसके पन्ने को पलटा तो दिमाग सन्न रह गया, विनिता तो काम वासना वाली किताब पढ़ रही थी और मैं किताब लिए उसको बोला ” कोई बात नहीं, उम्र का तकाजा है ” मैं वो किताब लेकर उठा फिर उसके रूम से जाने लगा ” इसको मैं पढ़कर तुमको लौटा दूंगा ” वो कुछ नही बोली और फिर रात के १०:०० बजे तक सब लोग साथ में खाना खाए फिर मैं अपने रूम चला गया और दरवाजा बंद किए बेड पर लेटा फिर मैं किताब पढ़ने लगा तो मेरे बदन पर सिर्फ शॉर्ट्स था कारण की मौसम गर्मी की थी और खिड़की के तरफ कूलर लगी हुई थी, जिससे रूम थोड़ा ठंडा हो जाता और मैं काम क्रीड़ा की कहानी पढ़ता हुआ गर्म होने लगा फिर मैं शॉर्ट्स को उतार कमर से टॉवल लपेट लिया और एक हाथ से किताब पकड़े हुए पढ़ रहा था तो दूसरा हाथ अपने लन्ड पर लगाए हिलाने लगा, घर की मालकिन और नौकर के बीच का जिस्मानी संबंध पढ़ता हुआ लन्ड हिलाने लगा तो कभी कभी आंखे बंद कर बहन की नग्न कल्पना करने लगता और कुछ देर बाद मुझे किसी की आहट खिड़की के पास सुनाई दी तो मैं उधर अंधकार रहते हुए भी विनिता को देख लिया जोकि खिड़की से मुझे झांक रही थी और मैं उसे अनदेखा करते हुए टॉवल हटाया फिर हस्तमैथुन करने लगा, भले मेरी बहन विनिता गंदी कहानी की किताब पढ़ते पकड़ी गई लेकिन वो तो अपने भाई के हरकत पर भी नजर रखी हुई थी तो मैं बेशर्म बनना सही समझा ओर अब नंगे ही वाशरूम घुसा फिर मूतने के बाद फ्रेश हुआ और रूम आया, नजर खिड़की की ओर किया तो विनिता नही थी शायद मेरे लन्ड को देख तड़प उठी और रूम चली गई ताकि बुर को उंगली या केंडल से संतुष्ट कर सकें। मैं बेड पर लेटने से पहले ही मोबाइल देखा तो व्हाट्सएप पर कुछ मेसेज थे और मैं विनिता के लिखे मेसेज पढ़कर अचंभित रह गया ” राहुल तुम किताब पढ़ते हुए क्या कर रहे हो, वही जो उत्तेजना को बढ़ाती है लेकिन हासिल कुछ नही होता और यही तो मैं भी करने वाली हूं
( मैं तो बहन की जगह विनिता को एक लड़की की तरह देखने लगा जोकि खुद से मुझे प्रोपोज कर रही थी, मैं मेसेज का जवाब लिखा ) क्यों ऐसे पवित्र संबंध को दरकिनार करते हुए ऐसी बातें करें ” और मैं रूम में नाईट बल्ब ऑन करके बेड पर नंगा लेट गया फिर खड़े लन्ड पकड़े हिलाने लगा तभी मेरी नजर खिड़की की ओर गई जोकि बाहर की ओर कूलर लगे रहने के कारण खुली थी, विनिता वहां खड़ी होकर मुझे देख रही थी लेकिन मैं अब धैर्य खो चुका था और लन्ड को हिलाते रहा, इतने में दरवाजा पर नॉक हुआ तो मैं झट से शॉर्ट्स पहनकर बल्ब ऑन किया फिर दरवाजा खोलने गया, सामने विनिता खड़ी थी और उसके बदन पर नाईट सूट थी यानी पूरी तरह से बदन ढका हुआ था ” क्या हुआ विनिता इतनी रात को
( वो मेरे बगल से रूम में घुस गई ) दरवाजा बंद कर दो प्लीज मैं काफी डिस्टर्ब हूं
( मैं दरवाजा बंद कर उसके बगल में बैठा तो वो झट से मेरे लन्ड के उभार को शॉर्ट्स के ऊपर से पकड़ दबाने लगी ) ये क्या कर रही हो
( विनिता मेरे गाल चूम ली ) प्लीज अब मुझे मत रोको बहुत बर्दास्त कर ली
( मैं तो असमंजस में पड़ गया फिर उसके कंधे में हाथ डालकर गाल चूम लिया ) क्या तुम ऐसे घिनौने कृत्य करने के लिए मानसिक रूप से तैयार हो ” तो विनिता मेरे ओंठ पर ओंठ रख चुम्बन देने लगी और मेरा हाथ उसके पीठ पर चला गया इतना ही नहीं वो जिस कदर बैठी थी उसका दाहिना बूब्स मेरे छाती से चिपका हुआ था ” तुम तो इतिहास पढ़े हो, रोमन साम्राज्य के बारे में पता है की नही
( मैं उसके ओंठ चूम लिया ) हां उस साम्राज्य में भाई और बहन के बीच शादी होती थी
( विनिता मेरे गाल चूमते हुए लन्ड के उभार को पकड़ दबाने लगी ) और शादी के बाद तो बहुत कुछ होता होगा ना ” इतने में विनिता मेरे ओंठ पर ओंठ रख दी साथ ही मेरे गोद में चूतड रख बैठी तो मैं भी भूल गया की दोनों के बीच क्या सम्बन्ध है, मेरे गर्दन में हाथ डाले ओंठ को मुंह में घुसाई फिर मैं उसके रसीले ओंठ चूसते हुए उसको बाहों में लिए बदन से चिपका लिया तो उसके गोल मुलायम बूब्स का एहसास मेरी छाती को मिल रहा था और दोनों काम क्रिया में लीन हो गए, विनिता के ओंठ मुंह से निकाल उसके गाल चूमने लगा तो वो मुझे बोली ” मेरी जीभ चूसो ना फिर मुझे निर्वस्त्र करके मेरे खुबसूरत जिस्म को प्यार करो
, ऐसी बात बहन के मुंह से सुनकर कौन भाई अपने पर काबू रख सकता है तो मैं मुंह खोला और वो जीभ घुसाई जिसे मैं चूसने लगा तो दोनों की आंखें बंद हो चुकी थी साथ ही सांसें आपस में टकरा रही थी और विनिता के गोल मासंल चूतड का दबाव मेरी जांघो को मजा दे रहा था लेकिन बहुत जल्द ही विनिता मेरे सर को पीछे करके जीभ निकाल ली फिर गोद पर से उतरकर बेड पर चित लेट गई। मेरा लन्ड तो शॉर्ट्स के अंदर फुंफकार रहा था और मैं अब उसके टॉप्स को गर्दन से बाहर करने लगा, वो ब्रा पहन रखी थी जिसे मैं रहने दिया फिर स्कर्ट को कमर से नीचे करते हुए विनिता को अर्ध नग्न कर दिया, विनिता शरमाने लगी और मैं कुछ बोलता उसके पहले बोली ” क्या तेरी इच्छा मुझे नग्न देखने की नही है
( मैं उसके पीठ पर हाथ लगाया और ब्रा की हुक को खोल उसको सीने से हटाया ) इच्छा तो अब जागने लगी विनिता बस देखने दो
( मैं एक बूब्स दबाने लगा और उसकी पेंटी की डोरी खोलने लगा ) आह ओह बहुत अच्छा लग रहा है राहुल ” और वो चूतड को थोड़ा सा ऊपर उठाई तो मैं पेंटी उतार उसे नंगा कर दिया फिर उसकी नग्न चूत को देखने लगा, विनिता खुद बेड पर लेट गई और जांघो को आपस में सटाए चूत छुपाने लगी तो मैं उसके चेहरे के पास बैठा था और वो मुझे देखते हुए लन्ड को पकड़ ली तो मैं भी शॉर्ट्स और बनियान उतार दिया। विनिता मेरे लन्ड को पकड़ हिलाने लगी तो मैं उसके बूब्स के ऊपर चेहरा किए मुंह खोला और बहन मेरी मुंह में बूब्स घुसाई जिसे मैं चूसता हुआ उसके दूसरे स्तन दबाने लगा, चूची छोटी छोटी थी साथ ही टाईट जिसे चूसते हुए मुझे बहुत मजा आ रहा था तो विनिता आहें भर रही थी ” उह उफ इतनी मस्ती है इसमें जिसे तुम घिनौना काम कहते हो राहुल
( मैं चूची मुंह से निकाल उसके निप्पल को जीभ से चाटने लगा ) आह कितनी खुजली हो रही है
( मैं उसके छाती को चूमने लगा ) खुजली किधर हो रही है बेबी ” तो वो अपनी जांघो के बीच हाथ लगाकर इंगित की तो मैं उसके खूबसूरत जिस्म को चूमता हुआ कमर की ओर फिसलने लगा और फिर जांघो को फैलाया तो पहली बार नग्न चूत देखने को मिला था जिसकी दोनों फांकें आपस में सटी हुई तो फांकें मोटी और मैं उसके ऊपर उंगली घुमाने लगा तो विनिता का चेहरा लाल हो चुका था ” आह उह ये अंदर घुसाओ ” मेरा हाथ पकड़ बुर में उंगली घुसाई जिसमें उंगली घुसते ही मुझे लगा की भीषण गर्मी है फिर भी उंगली को अंदर रगड़ने लगा और विनिता ” उफ आह अब उंगली हटाओ ना उसे चूमो चाटो
( मैं उसके चूतड के नीचे तकिया लगाया ) जरूर बेबी लेकिन क्या तुम्हें मेरा लन्ड चूसना पसंद है ” वो शर्म से चेहरा फेर ली और मैं उसकी जांघो के बीच चेहरा किए बुर चूमने लगा, बुर पर हल्के रोएं उगे हुए थे तो कोमल चूत को चाटने लगा लेकिन उसके ऊपरी हिस्से को और विनिता उंगली से बुर फैलाई फिर उसमें मैं जीभ घुसाए चाटना शुरु किया, बुर के अंदर आधा जीभ ही घुस रहा था लेकिन उसको चाटते हुए मेरा लन्ड टाईट होने लगा और विनिता बेड पर अपने दोनों पैर रगड़ने लगी तो मैं बुर को चाट कर दुबारा उसमे उंगली किया और बुर को कुरेदने लगा ” आह उह उई अब बुर से रस निकल जाएगी ” विनिता के मुंह से बुर शब्द सुनकर मस्त हो उठा और फिर उसकी बुर रस से भर गई तो मैं चेहरा झुकाया फिर बुर के रस को चाटने लगा और वो तो चूतड ऊपर उठाने लगी, तभी मैं उठकर वाशरूम चला गया और विनिता बेड पर लेटी रही।
मैं वापस बेड पर आया तो विनिता नंगे ही वाशरूम चली गई और उसकी चूतड देख तो मन तड़प उठा, खैर अपनी छोटी बहन का खुबसूरत जिस्म मुझे ही मिलने वाला था और मैं बेड पर लेट गया, वो बेड पर आई फिर मेरे लन्ड को पकड़ बोली ” इसको चुसूंगी लेकिन इसको वेजिना में तब तक नही डालना जब तक मेरी इच्छा ना हो
( मैं उसके बूब्स को पकड़ दबाने लगा ) हां बेबी, तू जैसा चाहेगी वैसा ही होगा ” और वो मेरे लन्ड को पकड़ चूमना शुरू की फिर मुझसे नज़रें मिलाते हुए सुपाड़ा मुंह में ली और मुंह खोलकर आधा से अधिक लन्ड मुंह में लेकर चूसने लगी, विनिता लन्ड चूसने के लिए आगे की ओर झुकी हुई थी तो मैं उसके बूब्स पकड़ दबाने लगा और मेरे लन्ड को मुंह में लिए चूसते हुए मुंह को स्थिर रखी थी ” आह ओह अब ब्लोजॉब तो करो ” लेकिन वो लन्ड को मुंह से निकाल दी फिर जीभ से चाटने लगी और मैं बोला ” इसको तो पहले हिलाया फिर तेरे साथ सो चूसोगी तो जल्द ही इसका रस निकल जायेगा
( विनिता हंस दी ) इसका रस मैं चखूंगी क्या समझे ” और फिर मेरे लन्ड को मुंह में लिए सर का झटका देने लगी, विनिता के बाल को पकड़े मैं उसके मुंह में लन्ड का धक्का देने लगा और जो मस्ती आज़ मिल रही थी उससे मैं पहले कोसों दूर था, विनिता मुंह में लन्ड लिए मुखमैथुन करने में लीन थी तो मैं उसके चूची को दबा रहा था और अब सिसकने लगा ” आह ओह चूस साली रण्डी मजा आ गया अब मेरा लन्ड झड़ने पर है ” तो विनिता लन्ड को मस्ती में चूसते रही फिर मैं उसके बाल को पकड़े लन्ड को मुंह में अंदर तक घुसाया और लन्ड से वीर्य निकल कर विनिता के मुंह में गिरने लगा जिसे वो आराम से निगल गई, क्या पहली बार सेक्स करने वाली लड़की विर्येपान कर सकती है ये तो नही पता लेकिन मेरा लन्ड उसके मुंह में सुस्त पड़ गया फिर वो मेरा लन्ड मुंह से निकाल वाशरूम चली गई तो मैं कुछ देर बाद फ्रेश होने गया, वो मुंह में माउथवास डालकर मुंह साफ कर रही थी फिर दोनों फ्रेश हुए और मैं बोला ” उसको मुंह में लेने की क्या जरूरत थी
( वो बेशरम की तरह बोली ) उसको तो कहां कहां लुंगी आप देखते रहिए ” फिर वो अपने रूम चली गई और मैं दरवाजा बंद करके नंगे ही बेड पर सो गया।

This story अश्लील पुस्तक : बहन ने मुझे रिझाया appeared first on new sex story dot com

2.7 3 votes
Article Rating
Subscribe
Notify of
guest
0 Comments
Inline Feedbacks
View all comments