Skip to content

भाई को हस्तमैथुन करते देखी

फ्रेंडस,
जिया २० वर्ष की कच्ची कली तो घर में मुझसे छोटा सिर्फ मेरा एक भाई जोकि १६-१७ साल का है और +२ स्कूल में पढ़ता है, हमारे घर में तीन बेडरूम है साथ ही एक डायनिंग हॉल जिसमें सभी रूम का दरवाजा खुलता है तो आगे की ओर गाड़ी लगाने की जगह और पीछे की ओर बागान, मेरा कमरा अमित के कमरे से सटा हुआ था तो दोनों के कमरे के बीच कॉमन वाशरूम था और एक रात…… जुलाई का महीना तो उमस भरी गर्मी और मैंने अपने रूम की खिड़की खोल रखी थी जोकि बागान की ओर खुलती थी तो दूसरी खिड़की सामने की ओर, खाना खाकर रात १०:०० बजे सब लोग अपने अपने रूम चले गए तो मैं रूम आते ही सिर्फ दरवाजा लगा दी फिर कूलर ऑन कर बेड पर चली गई तो स्कर्ट और टॉप्स में काफी गर्मी महसूस हो रही थी और जिया बेड पर लेटे हुए ही अपने स्कर्ट उतार फैंकी तो मेरे बदन पर नीचे की ओर पेंटी और उपर की ओर टॉप्स था, फिर टॉप्स उतारी तो दोनों चूचियां नग्न और मैं बेड पर लेटे हुए ही नीलेश के बारे में सोचने लगी। जिया अपने दोनो बूब्स खुद पकड़े दबाने लगी लेकिन पल भर तक चूचियों को दबाई थी कि मुझे वाशरूम में कुछ गिरने का आवाज़ आया और मैं हड़बड़ा कर उठी फिर वाशरूम के दरवाजा को धीरे से धक्का दी, मुझे ये एहसास तक नहीं था कि मैं अपने आपको नंगा कर चुकी हूं तो मेरे बूब्स से लेकर हरेक अंग नंगे हैं, सिर्फ पेंटी पहन चूत को ढकी हुई थी और ज्योंहि वाशरूम का दरवाजा खुला मेरा दिमाग उड़ गया, अमित वहां अपना लंड पकड़े हिलाए जा रहा था लेकिन मेरे रूम की ओर खुलनेवाले दरवाजा को वो बन्द करना भूल गया था इसलिए उसको हस्तमैथुन करते देख ली और उसकी नजर मुझ पर पड़ते ही वो अपना शॉर्ट्स जोकि घुटने तक था को उपर की ओर किया पर जिया अपने छोटे भाई अमित के लंड देख तड़प उठी तो यकीनन उसकी नजरें मेरी नग्न जिस्म पर ही टिकी रही लेकिन शर्मिंदगी के मारे भाई अपने रूम में चला गया तो मैं अपने रूम में।
जिया बेड पर नग्न होकर लेटी रही तभी बादल गरजने की आवाज सुनाई दी तो पल भर में ही खिड़की से बागान कि ओर देखी और तेज बारिश शुरु हो चुकी थी, इधर मेरे नग्न जिस्म पर कूलर की ठंडी हवा तो आंखों में अमित के लंड की तस्वीर, क्या करूं उस छोकरे के साथ? एक ओर मूसलाधार बारिश तो साथ में बिजली का चमकना और इसी बीच बत्ती भी गुल हो गई तो सिर्फ पंखा ही चल रहा था और फिर सोची की पता नहीं बिजली कब आएगी सो अमित को अपने रूम ही बुला लेती हूं और मैं उठकर अपने नाईटी को ली फिर पहन ली जिसकी डोरियां सामने की ओर थी, वाशरूम के दरवाजे की ओर से उसके रूम घुसी तो उसके रूम की ओर खुलनेवाले दरवाजा भी खुले थे और मैं उसके रूम आई तो वो बेड पर करवट लिए सो रहा था। जिया अब धीमे स्वर में बोली ” अमित सो गए क्या
( वो चित होकर बोला ) नहीं दीदी जगा हुआ हूं
( मै बोली ) बिजली गुल हो चुकी है तो मेरे रूम में ही आकर सो जाओ ” वो पहले तो आनाकानी कर रहा था फिर मेरे रूम आया तो रूम में सिर्फ नाईट बल्ब जल रहा था और दोनों बेड पर लेटे तो दोनों का चेहरा आमने सामने था, पूछी ” तुम वाशरूम में क्या कर रहे थे, बोलो अगर मॉम को बता दी तो समझ रहे हो क्या हाल तेरा होगा
( वो लेटे हुए ही कान पकड़ा ) सॉरी दीदी, दरवाजा अंदर से बंद करना भूल गया था लेकिन आप भी तो
( मैं उसके करीब हुई ) क्या आप भी तो, बोलो
( अमित मुझसे नजरे मिलाने लगा ) आप तो बिल्कुल ही नंगी थी ” और तभी मेरे अंदर की इच्छाएं जाग उठी फिर मैं उसको अपने बाहों में लिए चेहरा चूमने लगी, वो मेरे चुम्बन से असमंजस में पड़ गया और मुझसे छुटने की कोशिश करने लगा लेकिन जिया की इच्छा अपने छोटे भाई के साथ ही काम क्रीड़ा करने की जाग उठी तो उसके उपर ही मैं सवार हो गई और अमित अब विरोध करने की बजाय मुझे चूमने लगा तो उसके बदन पर लेटकर मैं उसके सर के पीछे हाथ लगाई फिर उसके ओंठ पर ओंठ रख चुम्बन देने लगी तो मेरे बूब्स उसकी छाती से दब रहे थे और वो मेरे चूतड को नाईटी के उपर से ही सहलाने लगा।
अमित के चेहरे को चूम रही थी तो वो मेरे चूतड की गोलाई को सहलाता हुआ अपना जीभ मुंह से निकाला फिर मैं उससे नजरे मिलाते हुए उसके जीभ मुंह में लिए चूसने लगी तो भाई – बहन का पवित्र रिश्ता शर्मशार हो गया लेकिन सेक्स के सामने कौन सा रिश्ता टिकता है, वो भी इस कलयुग और भौतिकवादी युग में जहां की मोबाईल, इंटरनेट और टी वी ने बच्चे से लेकर बड़े तक के दिलोदिमाग को खराब कर चुका है। जिया अपने भाई अमित में नीलेश को ढूंढ रही थी तो मेरे से उम्र में ३ साल छोटा भाई मेरे मुंह में जीभ घुसाए चुसवा रहा था साथ ही मेरे गान्ड के दरार में उंगली रगड़ते हुए मस्त हो रहा था, फिर उसके जीभ निकाल बेड पर लेटी तो अमित मेरे बूब्स पर हाथ फेरने लगा और मैं उसे गुस्से भरी नजरों से देखी तो वो डर कर मेरे बूब्स पर से हाथ हटाया लेकिन तुंरत ही मैं बोली ” अमित पहले अपनी दीदी की नाईटी को तो खोलो ” वो खुशी से झूम पड़ा और मेरे बगल में बैठकर मेरे नाईटी की डोरी को खोला फिर उसे बाहों तक किए मेरे चूची को पकड़ दबाने लगा तो मैं खुद ही कामुकता वश रिश्ते भूल सेक्स की दुनिया में खो चुकी थी, मूसलाधार बारिश और भाई बहन का प्यार अगले भाग में……

This content appeared first on new sex story .com

This story भाई को हस्तमैथुन करते देखी appeared first on dirtysextales.com

0 0 votes
Article Rating
Subscribe
Notify of
guest
0 Comments
Inline Feedbacks
View all comments