Skip to content

मां और बेटी दोनों को रिझाया : भाग-५

दोस्तों,
पिछले भाग के आगे….. राहुल बेड पर लेटा हुआ था तो उसके चेहरे के उपर परमजीत घुटनों के बल बैठ चूत चटवा रही है साथ ही मेरे लंड मुंह में लिए राधा चूसने में लीन है, राहुल डिंपी की कमर पकड़े चेहरा को उपर किए जीभ से उसकी चूत चोदने मस्त हैं तो राधा मेरे लंड को मुंह में लिए मुखमैथुन कर मुझे कामुक कर रही है, तभी डिंपी मेरे मुंह के ऊपर से उतर गई फिर मेरे छाती को झुककर चूम रही थी तो राधा लंड को चूस चूसकर पूरी तरह से टाईट कर चुकी थी और परमजीत मेरे छाती से कमर तक को किस्स करने लगी तो राहुल का हाथ उसके चूची को पकड़ जोर जोर से मसलने लगा, अब मेरा लंड राधा की मुंह से बाहर था तो वो गिले लंड को जीभ से चाटते हुए मेरे गान्ड के छेद में एक उंगली घुसाई फिर गान्ड कुरेदते हुए लंड को हिलाने लगी तभी डिंपी बोली ” राधा रेफ्रिजरेटर से मक्खन ले आ और राहुल कि गान्ड में बटर डालकर चाटना है
( मैं उठा और नंगे ही वाशरूम गया ) लेकिन गांड़ चुदाई तो आपकी होगी मैडम ” और वो चुप रही, मैं फ्रेश होकर बाहर आया तो राधा एक छोटे से प्लेट में बटर की टिकिया लिए बेड पर बैठी थी और उसके हाथ में एक आर्टिफिशियल पेनिस देख मुझे लगा कि इससे मेरी गान्ड को चोदेगी, तभी डिंपी मेरे लंड के पास बैठी और राधा मेरे चेहरे के पास बैठ मुझे मुस्कुराते हुए देखने लगी ” दूध पिएंगे साहब
( मैं उसके चूची को पकड़ दबाने लगा ) क्यों नहीं बस तुम मेरे मुंह के ऊपर चूची कर दो ” राधा मेरे मुंह के ऊपर चूची करने के लिए झुकी तो मैं इसके दूध से लबालब चूची को पकड़ मुंह में लिया फिर चूसने लगा तो हाथ उसके पीठ को सहलाने लगा और उधर परमजीत मेरे चूतड के नीचे तकिया लगाकर जांघें फैलाई फिर बटर को गान्ड के छेद पर रगड़ने लगी साथ ही मेरे लंड पकड़े सिर्फ सुपाड़ा को अपने ओंठो के बीच ली थी तो मैं राधा के चूची से निकलने वाली दूध का स्वाद ले रहा था, अब वो खुद मेरे मुंह से चूची निकाली फिर दूसरे स्तन पकड़ मेरे मुंह में घुसाने लगी और मैं उसके स्तनपान करते हुए डिंपी के मुंह में अपना पूरा लंड का एहसास पा रहा था और डिंपी मुखमैथुन करने लगी तो मैं कुछ पल में राधा का चूची छोड़ा ” लगता है तू बच्चे की मां है
( वो मेरे चेहरे को चूमने लगी ) हां साहेब छह महीने हो गए एक बेटा को जन्म दी हूं तो दूध फिर से इसमें उतर आया ” और राहुल का लंड अब टाईट था तो परमजीत मुंह से लंड निकाल ली तो मेरे बटर से चिपचिपे गान्ड को उंगल्ली से फैलाकर डिंपी जीभ से चाटने लगी और राधा मेरे छाती से कमर तक को चूमने में लीन थी ” ओह उह अब चोदने दो ना
( डिंपी गांड़ चाटना छोड़ दी ) तेरे गांड़ में ये लंड होगा और तेरा लंड मेरी गान्ड में ” राहुल अब उठकर बैठा तो परमजीत बेड पर जांघें फैलाए लेटी हुई थी और उसके चूतड के नीचे तकिया लगाया तो गान्ड का छेद मेरे नजरों के सामने था, अब मैं डिंपी के गान्ड के छेद को उंगली से फैलाकर उसमें बटर घुसाने लगा और उसके गान्ड की ढीली छेद में एक चोथाई बटर डालकर अब उंगली से उसे कुरेदने लगा, मेरा लंड अब छेद में जाने को तैयार था तो गान्ड में उंगली करते हुए उसके जांघ चूमने लगा और राधा बैठकर अपनी मालकिन की चूची को मसल रही थी, पल भर बाद परमजीत बोली ” अब राहुल चोदो मेरी गान्ड लेकिन एक साथ दोनो को गान्ड चुदाना है ” ।
परमजीत बेड पर ही डॉगी स्टाईल में हुई तो उसके जिस्म घुटनों और कोहनी के बल थी साथ ही दोनों चूचियां छाती से लटकी हुई, अब मैं अपने लंड को पकड़ा फिर उसकी गान्ड के छेद में सुपाड़ा सहित लंड अंदर पेलने लगा, खसखसाता हुआ मेरा २/३ लंड गान्ड में चला गया लेकिन ये साली चुदक्क़ड उफ़ तक नहीं की तभी मैं थोड़ा सा लंड गान्ड से निकाला फिर उनकी कमर पकड़े जोर से चोद दिया तो मेरा पूरा लंड गुदाज गांड़ में था और अब दे दनादन चोदता हुआ उसके बूब्स पकड़ दबाने लगा तो गान्ड के अंदर बटर की चिकनाहट लंड को मजा दे रही थी। राहुल का लंड गान्ड में तेजी से फिसल रहा था तो मैं उसके गांड़ चोदते हुए अब चूची को छोड़ा और पीठ से चूतड तक को सहलाने लगा और वो पीछे मुड़कर देखी फिर अपने चूतड हिलाने लगी, साली ये तो गांड़ू किस्म की औरत है और राहुल के लंड से गान्ड में गर्मी जो पैदा हुई थी उससे लंड खुद ही परेशान घा ” उह ओह साले कुत्ते चोद चोद मेरी गान्ड अबे रण्डी राधा तू अब इसके झडने के बाद इसे फिर से तैयार करेगी समझी
( राधा लेटी हुई थी ) जरूर मालकिन ” और फिर मैं लंड को गान्ड से निकाला तो उसके ठीक नीचे चूत देवी में लंड को घुसेड़ दिया, वहां तो रस भरी थी फिर भी चूत चोदते हुए मस्त होने लगा तो डिंपी पूछी ” तुम वियाग्रा जैसी दवाई लो गे
( मैं चूत चोदता हुआ हांफने लगा ) जरूरत नहीं पड़ेगी डार्लिंग ” और उसकी ढीली चूत चोद रहा था तो राधा वहां से उठकर ड्रिंक्स बनाने लगी, मैं अब चोदता हुआ पसीना पसीना हो चुका था तो वास्तनुकुलित रूम में भी काम क्रिया करते वक़्त कितनी गरमी हो रही थी फिर मैं बोल पड़ा ” ओह डार्लिंग अब मेरे लंड से वीर्य झडने पर है
( वो चूतड हिलाने लगी ) झाड़ो अंदर ही आखिर चूत में कॉपर टी लगवाई क्यों हूं ” और मेरे लंड से वीर्य स्खलित हुआ तो मैं कुछ देर लंड अंदर ही रहने दिया फिर लंड निकाल बेड पर लेट गया तो डिंपी नंगे ही वाशरूम चली गई, अब राधा नंगे ड्रिंक्स लिए मेरे लिए खड़ी थी, मैं उठकर बैठा ” पहले जरा पानी पिलाओ
( वो पानी मुझे ग्लास में दी ) लीजिए फिर ड्रिंक्स लेना है ” तो वो दो ग्लास में व्हिस्की लिए बेड पर बैठी तो मै उससे ग्लास लेकर व्हिस्की पीने लगा ” आप थक चुके हैं ना
( मै ) हां तुम मुझे फिर से गरम कर दो ” और फिर दोनों के बीच कुछ देर तक ओरल सेक्स हुआ…. to be continued.

This content appeared first on new sex story .com

This story मां और बेटी दोनों को रिझाया : भाग-५ appeared first on dirtysextales.com

0 0 votes
Article Rating
Subscribe
Notify of
guest
0 Comments
Inline Feedbacks
View all comments