रिंकी की कुंवारी चूत – Dirty Sex Tales

Posted on

नमस्कार दोस्तों, कैसे हैं आप सब। उम्मीद है आपको नई नई सेक्सी कहानी पढ़ कर अच्छा लगा होगा। आज एक लड़की की कहानी को गलती से पोर्न देख लेती है और फिर कामुक विचार में खोई हुई अपने दूर के कजिन से सेक्स करती है।

दोस्तों आजकल मोबाइल में पोर्न देखना एक फैशन बन गया है। रिंकी २१ साल की जवान लड़की है जो काफी सीधी है। उसको काम कला के बारे में कुछ पता नहीं था। और न किसी से उसने ऐसा कुछ सुना था। उसका बदन सेक्सी था लेकिन उसने कभी इन चीजों पर ध्यान नहीं दिया था। वह साधारण कपड़े हीं पहनती थी। एक दिन उसके घर में उसके दूर के मौसी का लड़का आया जिससे वो काफी साल बाद मिल रही थी। उसका नाम अनिल था। अनिल कुछ काम से इनके यहां आया था कुछ दिनों के लिए। अनिल हर समय मोबाइल में कुछ न कुछ देखता रहता था। ये बात घर में उसको सब बोलते थे लेकिन वो हंस के टाल देता था।

एक दिन सुबह सुबह वह पोर्न देख रहा था अपने कमरे में और अपने लौड़े को सहला रहा था। क्योंकि रिंकी का घर बड़ा था तो मेहमान या और कोई हो, सबका अलग कमरा था। रिंकी की मां ने उसको चाय देने के लिए बोला अनिल के लिए। रिंकी चाय लेकर आई लेकिन दरवाजा थोड़ा खुला था। रिंकी नॉक करने हो वाली थी की थोड़े खुले दरवाजे से उसे अंदर का नजारा दिख गया। अनिल के बदन पर बनियान नही था और वह अंडरवियर के अंदर हाथ हिला रहा था। उसका लन्ड बड़ा हो रहा था। रिंकी यह देख कर आश्चर्य से भर गई। उसका मन हुआ वापस जाने का लेकिन थी तो वो भी जवान, वही रुक कर अनिल की हरकत देखने लगी। कुछ ही देर में अनिल हस्तमैथुन करने बॉथरूम में चला गया, लेकिन उसका मोबाइल कमरे में बिस्तर पर ही रह गया। अब रिंकी चाय लेकर अंदर गई और चाय को टेबल पर रख कर मोबाइल उठा कर देखने लगी। मोबाइल में एक पोर्न क्लिप चल रहा था जिसमे एक लड़की अपनी चूत चटवा रही थी लड़के से और आहें निकल रही थी। रिंकी यह देख कर सिहर गई। उसके रोएं खड़े हो गए। पहली बार वह पोर्न देख रही थी। उसके सांसे तेज हो गई। थोड़ी देर तक वह देखती रही। इसी बीच अनिल भी आ गया बाथरूम से और उसने देख लिया रिंकी को और रिंकी ने भी उसको देखा। जल्दी से उसने मोबाइल बिस्तर पर रख दिया और कहा कि चाय लेकर आई थी। अनिल ने पूछा की क्या देखा मोबाइल में तो वो शरमा कर चुप रही। अब अनिल ने उसको गौर से देखा और थोड़ी दिलचस्पी लेने लगा।

अनिल ने रिंकी से पूछा कि क्या और ऐसा कुछ देखना है तो वह इनकार में सिर हिलाती हुई भाग गई। अब अनिल ने रिंकी के बारे में सोचना शुरू किया किंक्या उसके साथ सेक्स हो सकता है। इधर रिंकी की हालत खराब थी। वो सीधा अपने रूम में आई और दरवाजा बंद करके बिस्तर पर लेट गई। उसकी सांसे तेज चल रही थी जिससे उसके बूब्स ऊपर नीचे हो रहे थे। उसने अब अपने बूब्स पर ध्यान दिया। उसने अपना समीज खोल दिया और ब्रा में आईने के सामने खड़ी हो गई। उसको अब अपनी जवान जिस्म अच्छा लगने लगा। वह खुद से स्तन दबाने लगी और मस्ती में उसने ब्रा भी उतार दिया। उसका कड़क निप्पल और बूब्स एकदम पहाड़ जैसे लग रहे थे। उसके पतले कमर पर जैसे नारियल के पेड़ पर नारियल लटकते है ऐसे थे। उसने अब अपना सलवार और पैंटी भी उतार दिया और अपने जिस्म से जैसे उसे प्यार हो गया।

आज पहली बार इस तरह से उसने अपने आप को देखा। उसके चूत पर मुलायम काले काले बाल थे जो गुलाबी चूत को ढके हुए थे। वह बिस्तर पर पैर फैल कर बैठ गई और चूत में उसके गीलापन हो गया। उसने अपनी उंगली चूत में डाली और कुछ देर तक अंदर बाहर करने लेगी। बहुत मजा आया उसे। अब वह अनिल के लौड़े के बारे में सोचने लगी और चूदाई के खयाल से हिंसक शरीर में खलबली मच गई। उसने सोचा की अनिल को पटाना पड़ेगा। वह बाथरूम में गई शावर लिया और उसने कुछ स्पेशल ड्रेस पहनने के लिए सोचा। वैसे उसके घर में सब वेस्टर्न ड्रेस पहनने हैं और सब आजाद खयाल के हैं लेकिन रिंकी वेस्टर्न ड्रेस कभी कभी पहनती थी। आज उसने एक स्किंफिट लेगिंग्स और तोड़ा टाइट t-shirt पहना। और सब अब खाने के में पर आ गए थे। रिंकी तिरछी नजर से अनिल को देख रही थी। अनिल उसके बगल में ही बैठा था और उसे भी रिंकी आज सेक्सी लग रही थी इस ड्रेस में। मेज़ के नीचे से अनिल, रिंकी के पैरों को छुने लगा और रिंकी को भीं इसमें मजा आ रहा था।

खाने के बाद सब अपने काम पर गए। घर में रिंकी और अनिल ही थे। दोनो बालकनी में आ कर बैठ गए। अनिल अब उसको कामुक नजरों से देख रहा था और उसके बूब्स पर नजर थी। रिंकी – अनिल, क्या देख रहे हो। अनिल-कुछ नही रिंकी, अच्छा ये बताओ तुमने मेरे मोबाइल में क्या देखा था? रिंकी – थोड़ा शरमाते हुए, कुछ नही वो तुमने कैसी गंदी मूवी लगा रखी थी, तुम ही तो देख रहे थे। अनिल – किसने बोला की वो गंदी मूवी थी, उसको पोर्न बोलते हैं और उसको देखने में बड़ा आनंद आता है। रिंकी – अच्छा, कैसा आनंद, जरा मुझे भी बताओ। दोनो अब थोड़ा खुल कर बात करने लगे थे। अनिल – रिंकी, ऐसे कैसे बताऊं, तुम पूरा देखोगी तो महसूस करोगी। देखना है अभी? रिंकी – अभी, यहां? कोई आएगा तो मार डालेगा। अनिल- शाम से पहले कोई नही आयेगा, मैंने सब से पूछ लिया था। शाम तक आराम से देखेंगे, बताओ, तैयार हो? रिंकी – थोड़ा शरमा कर, हां देखेंगे लेकिन यहां नही, मेरे रूम में चलो। अनिल मान गया और रिंकी आगे आगे और अनिल पीछे से उसकी गांड़ को देखता हुआ चलने लगा। मेन गेट बंद था तो किसी के आने का कोई डर नहीं था। रिंकी ने अपने रूम में बड़े से वॉल tv पर अनिल का मोबाइल कनेक्ट कर दिया और वो अब बड़े टीवी पर देखेंगे। अनिल ने पूछा की किस तरह का पोर्न देखना है, लेकिन रिंकी को कुछ पता नहीं था तो उसने बोला की को तुम दिखा दो। अब अनिल ने एक गंदी abusive sex पोर्न और cum पोर्न लगाया। इसमें लड़के और लड़की पहले मिले और मिलते ही एक दूसरे को गाली देते हुए कपड़े उतारने लगे। रिंकी अब थोड़ा बेचैन होने लगी। सामने बड़े से tv par ladka ladki नंगे थे। लड़के का लौड़ा काफी बड़ा था और लड़की इसको चूसने लगी आइसक्रीम लगा कर। लड़का उसको गंदी गंदी गाली भी दे रहा था। रूम में साउंड tv ka तेज था तो आह आह की कामुक आवाज आ थी थी। रिंकी का गाल लाल हो गया। अब अनिलने मौका देख कर रिंकी के होंठो पर अपना होंठ रख दिया और उसको चूसने लगा। और धीरे से उसके बूब्स को प्रेस कर दिया। रिंकी रुको अनिल ये ठीक नही है। अनिल ने बोला, देखो रिंकी, सेक्स में सब ठीक है, और मै कोई सगा नही हूं। दूर का रिश्तेदार हम। सब जायज है। रिंकी और कुछ बोलती इस पहले अनिल ने फिर से उसका मुंह चूमना शुरू कर दिया। अब रिंकी भी जवाब में भरपूर से चूमने लगी। अनिल ने उसको अपनी गोदी में बैठा लिया सामने से और फ्रेंच किस करने लगा। रिंकी अब वासना में उतरने लगी। उसके निप्पल खड़े हो गए। इधर अनिल का लौड़ा रिंकी के चूतड पर लगने लगा। इधर tv पर लड़की अपनी चूत चटवाने लगी थी। इधर रिंकी ने अनिल के कपड़े उतारने शुरू किया। अब अनिलने रिंकी का tshirt उतरा और बूब्स ब्रा से साफ पता चल रहे थे की अभिभावक इसको किसी ने दबाया नही है। अब रिंकी ने अनिल का पैंट उतार दिया। अनिल अब अंडरवियर में था। रिंकी ब्रा में थी और नीचे लेगिंग्स और पैंटी। अनिल ने कहा तुम्हारा बदन काफी सेक्सी है। लगता है आज सील मैं तोडूंगा चूत की। रिंकी थोड़ा कामुक हो गई, उससे अभी तक किसी ने ऐसे बात नही किया था। अब अनिल उसका ब्रा उतारने के लिए आगे बड़ा लेकिन वो उछल कर बेड के दूसरे तरफ चली गई और हंसे लगी। अनिल इसके लिए तैयार नहीं था। वह भी कूद कर वहां आ गया और रिंकी के कमर के ऊपर बैठ गया। बैठ कर वह ब्रा के ऊपर से ही बूब्स दबाने लगा और एक हाथ से रिंकी का चूत छूने लगा। रिंकी अब बोली की ऐसे नही, पहले तुम अपना लौड़ा दिखाओ तब चूत दिखेगा। उधर tv पर लड़की के चूत में लौड़ा जा रहा था और उसकी चीख रूम में गूंजने लगी। अनिल ने बोला लौड़े तुम खुद देख लो रिंकी। ये आज तुम्हारा हथियार है। जैसे चाहो खेलो। रिंकी भले पहली बार कर रही थी लेकिन tv पर। पोर्न क्लिप में गालियां सुन कर उसको अच्छा लगा था। उसने अनिल को बोला की वो भी गालियां दे कर चूदाई करे। अनिल थोड़ा आश्चर्य में रहा क्योंकि रिंकी वैसे काफी सीधी लड़की थी। खैर उसने शुरू किया और बोला रिंकी कामिनी, चल अपना पैंटी उतार नही तो में फाड़ दूंगा। रिंकी – जमीन अनिल, तेरे लौड़े में दम है तो खुद उतर ले,,। रिंकी फिर भाग कर रूम के दूसरे कोने में गई। उसके मस्त गांड़ हिल् रहे थे और बूब्स भी। अनिल बोला रुक कामिनी पकड़ता हूं तुझको। इस तरह वो दौड़ा लेकिन रिंकी bed पर आ कर गिरी। अनिल ने उसको पीछे से पकड़ा और लेगिंग्स उतार दिया। रिंकी की गांड़ पूरी तरह चिकनी थी। पैंटी बाद एक कपड़े की लाइन थी जो मुश्किल से चूत को छुपा रही थी। अनिल खुश हो गया और उसके पीठ पर लेट कर बोला। कामिनी आज तुझको चुदककर बना दूंगा। रण्डी की तरह चोदूंगा। और वह पीछे से उसको चाटने लगा। उसके गांड़ पर अपनी जीभ फेरने लगा। अब रिंकी सीधे लेट गई। कोमल चिकनी टांगे उसने उठा दिया और बोली, ले कुत्ते चाट ले, कर ले हसरत पूरी। मेरा चूत ले और यह सुनते ही अनिल ने रिंकी का पैंटी अपने मुंह से खींच कर उसके बदन से अलग कर दिया। रिंकी अब bed पर थी और अनिल नीचे था। Tv पर कामुक आवाज अभी भी आ रही थी। रिंकी के चूत की गंध से अनिल पागल हो गया और रिंकी ने उसका सिर पकड़ कर जोर से अपने चूत में लगा दिया। जैसा वह tv पर देख रही थी और बोली। ले कामीने, जवानी का पानी पी ले। चाट ले जवानी का maal। तेरा भला होगा हराम की औलाद। अनिल उसके झांट के बालों पर हाथ फिरा रहा था और जीभ चूत के अंदर। इधर रिंकी ने अपना ब्रा भी उतार दिया और अनिल को बोली ले साले दूध भी पी ले या रस ही पिएगा। अनिल की तो आज लॉटरी लगी थी। कुंवारी चूत मिल गई थी और कड़क निप्पल। उसने बोला रुक साली दूध और रस सब पिऊंगा। तू देखती जा। अनिल अब अपनी उंगली डाल कर चूत के गहराई का अंदाज करने लगा और रिंकी के चूत से बहुत सारा पानी निकल रहा था। वह अब जोर जोर से आह आउच करने लगी। Tv की आवाज से भी तेज अब उसकी आहें कमरे में गूंजने लगी।

This content appeared first on new sex story .com

रिंकी आह हरामि tu बड़ा कुत्ता है। चल आजा मेरे इशारे पर नाच। जैसा tv par था। अब अनिल रिंकी के सामने नंगा नाचने लगा। उसका लौड़ा उससे ज्यादा नाच रहा था। रिंकी भी बिस्तर से उतर कर नाचने लगी। उसके बूब्स मस्त हिल रहे थे। अब अनिल ने उसके बूब्स का नाचते नाचते मसलना शुरू कर दिया। और उसके निप्पल को भी चूसना शुरू कर दिया। इस बीच रिंकी का पानी निकलने लगा। रिंकी बोली रुक कुत्ते पेशाब कर के आती हूं।। वह बाथरूम गई और पीछे से अनिल भी आ गया। अनिल रुक साली एक खेल करते है। तू मेरे लौड़े पर पेशाब कर और मैं तेरे चूत पर पेशाब करता हूं। रिंकी भी तयार हो गई और दोनो अपना पेशाब एक दूसरे के अंग पर करने लगे। दोनो ने एक दूसरे को ऊपर से नीचे तक भीगा दिया अपने अपने पेशाब से। अब अनिल बोला चल चाट कामिनी मेरे लन्ड को। रिंकी अब अपनी शर्म छोड़ कर उसके लन्ड को चाटने लगी जिसमे से अभी भिनपेशब की बूंद गिर रही थी। बॉथरूम के फर्श पर ही दोनो 69 हो हुए और एक दूसरे का शरीर चाटने लगे जिसमे। पेशाब भी था। दोनो मदमस्त हो गए।

अब अनिल ने रिंकी को गोदी में उठा लिया और रूम में आ कर बिस्तर पर लेटा दिया। उसने बहुत सारा थूक रिंकी के चूत में लगाया और अपने लन्ड पर भी। उसे पता था की रिंकी की चूत कुंवारी है तो कुछ मुश्किल होगी। वह अपने लन्ड के अगले भाग को चूत पर रख कर धक्का लगाने लगा लेकिन सही से लग नही रहा था। उसका लन्ड इधर उधर हो रहा था। रिंकी बोलने लगी कामीने, जल्दी डाल अंदर। आग लगी हुई है। कुछ कर हराम के औलाद। अनिल रुक कुटिया अभी दिल रहा हूं। अब उसने चूत को थोड़ा अपनी उंगली से फैला दिया। रिंकी की टांगो को थोड़ा और फैला दिया और अपना लुंड एक बार फिर से गीला किया। अब निशाना सही था। उसने जोर का धक्का दिया और लन्ड अन्दर। रिंकी जोर से चिल्ला उठी और अनिल ने एक बार फिर से धक्का दिया। अब रिंकी के चूत की झिल्ली फट गई और थोड़ा जवानी का खून बाहर आने लगा। रिंकी रो पड़ी और बोली कामिने मार दिया तूने। निकल ने कुत्ते, निकाल अपना लौड़ा, मार गई मैं। लेकिन अनिल तो ऐसी कुंवारी चूत को कैसे छोड़ देता। वह जानता था की अभी रिंकी मजे लेने लगेगी। बोला उसने साली कामिनी नखरा दिखा रही है। अभी आग लगी थी कुटिया तेरे को और अब चिल्ला रही है। और यह बोल कर वह हाथों से रिंकी के बूब्स को दबाने लगा और इधर अपने लन्ड से धक्का देना जारी रखा। अब रिंकी का दर्द कुछ कम हुआ और जवानी के चूदाई का मजा आने लगा। वह बोली कामीने धीरे क्यों किया, लगा जोर का धक्का। और कुछ मिनटों तक अनिल राजधानी एक्सप्रेस की तरह जोर जोर से धक्का लगाता रहा। और रिंकी मजे से यह देख रही थी। काफी देर तक वह अपने बूब्स दबवाती रही और अनिल आगे पीछे करता रहा अपना लन्ड उसकी चूत में। अब अनिल ने लुंड बाहर निकाला और अपना सारा वीर्य रिंकी के चूत पर गिरा दिया। रिंकी का चूत वीर्य से चुप गया। उसकी काले बाल वीर्य से छिप गए। रिंकी की पहली चूदाई का नशा मिला। वह उठी और खुश होकर अनिल को किस देने लगी। और बोली आती हूं चूत साफ करके। कामीने तू यही। रहेगा शाम तक।

कैसी लगी ये काल्पनिक कहानी। अपना कॉमेंट बताएं। धन्यवाद।

This story रिंकी की कुंवारी चूत appeared first on dirtysextales.com

0 0 votes
Article Rating
Subscribe
Notify of
guest
0 Comments
Inline Feedbacks
View all comments