Skip to content

वैलेंटाइन डे मनाया मोना दीदी के साथ

मेरा नाम रोनित है, उम्र २६ साल है. दिखने में काफी अच्छा हूँ, मेरा लण्ड ९ इंच लम्बा है और ३.५” चौड़ा है. मैं एक बंगाली अमीर फॅमिली से अता हूँ. मेरी बड़ी दीदी का नाम मोना है, वो २८ साल की एक जवान लड़की है. रंग गोरा, हाइट ५’६” है, मेरी दीदी काफी स्टाइलिश और सेक्सी है. बदन उसका किसी बंगाली माल की तरह भरा हुआ था, ३८ की बड़ी बड़ी चूचियां है, जो किसी फुटबॉल के सामान लगती है. और बहर की तरफ निकली हुई बड़ी सी गांड. कपडे काफी टाइट पहनना पसंद करती है, जिससे उसकी हर सामान के साफ़ दर्शन होते है. उसकी तनी हुई चूचियों लण्ड खड़ा कर देती और भरी हुई गदरायी गांड मूठ निकल दे.

मेरा अपनी गर्लफ्रेंड के साथ ब्रेकअप हो गया वैलेंटाइन डे से पहले. जिससे मैं काफी उदास रहने लगा. दीदी को इस बात का पता चल गया.
मोना: भाई तू उदास मत हो
मैं: दीदी, क्या करो, उसको इस टाइम ही ब्रेकअप करना था. मैंने कितना प्लान किया है वैलेंटाइन डे के लिए
मोना: अरे भाई यह उसका लॉस है, मेरे भाई से अच्छा लवर कहा मिलेगा उसे.
मैं: सच दीदी
मोना: हाँ भाई, तू टेंशन ना ले, सब ठीक हो जायेगा

वैलेंटाइन डे के दिन जब सुबह उठा, तो दीदी ट्रेडमिल में रनिंग कर रही थी. दीदी का मस्त फिगर देखकर मेरा लण्ड खड़ा हो गया, ३८-३०-४० का गदराया हुआ बदन था. जब वो दौड़ रही थी, तो उसकी चूचियां बहुत तेजी से हिल रही थी, मैं पास आकर देखने लगा, उसकी टाइट गांड बहुत उत्तेजित कर रही थी और हर जम्प के साथ उनकी फुटबॉल जैसी चूचियां बाहर आ रही थी. मेरा बहुत बुरा हाल था. दीदी ने अपना एक्सरसाइज ख़तम किया.

दीदी: भाई मैं नाहा कर आती हूँ, फिर तुम भी तैयार हो जाओ फिर हम तुम्हारे प्लान की तरह आज दिन बिताएंगे.
मैं: क्या दीदी? आप चलोगी मेरी साथ
दीदी: हाँ भाई, अपने भाई को उदास नहीं देख सकती. आज के लिए मुझे अपनी गर्लफ्रेंड समझ.

फिर दीदी गांड हिलाते हुए नहाने चली गयी, इतनी बड़ी भारी गांड है की मन करता है लण्ड घुसा दूँ और खूब गांड मारो दीदी का. मैं एक होल से दीदी को नहाते हुए देखने लगा. एक दम काम की देवी लग रही थी. दीदी ने अब ब्रा उतर दी, उनके दोनों कबूतर अब बाहर आ गए. कितनी बड़ी बड़ी चूचियां थी साली की, पानी से भीगा हुआ उनका नंगा बदन लण्ड का बुरा हाल कर रही थी. फिर दीदी पीछे मुड़ी और मुझे उनके बड़ी बड़ी चुत्तड़ो के दर्शन हो गए. मैं सोचने लगा आज दीदी गर्लफ्रेंड बनी, उसको तो रगड़ कर चोदूंगा. थोड़ी देर बाद दीदी टॉवल लपेट कर बहार आ गयी. भीगा हुआ आधा नंगा बदन उसे और सेक्सी बना रहा था. टॉवल सिर्फ आधी चूचियों को ही ढका हुआ था और उसकी नंगी टांगे.

मैं: उफ़फ़फ़फ़ दीदी.. गजब की सेक्सी लग रही हो.
दीदी: चल अब मस्का ना लगा और रेडी हो जा.

मैं नहा कर रेडी हो गया, दीदी के कमरे में गया. तो वहा का नजारा ही अलग था. दीदी ने रेड कलर की सेक्सी मिनीस्कर्ट पहनी हुई थी. इस ड्रेस में दीदी का सेक्सी बदन खिल गया था, बड़ी बड़ी चूचियां आधा से ज्यादा नंगी थी. उनकी गोरी और सेक्सी टांगो का कोई जवाब ही नहीं था. ड्रेस में दीदी की विशालकाय गांड किसी तरह फिट थी.

दीदी: कैसी लग रही हूँ?
मैं: सुपर सेक्सी दीदी
दीदी: तू भी हैंडसम लग रहा है.

फिर हम मूवी देखने चले गए, वहा से हम एक गार्डन चले गए. वहा काफी सारे कपल थे.
दीदी: अब क्या प्लान है भाई.
मैं: देखो दीदी वो कपल किश कर रहे है.
दीदी: तू भी करले भाई, आज मैं तेरी गर्लफ्रेंड हूँ.

मैंने दीदी को कस कर हग किया और किश करने लगा. किसी गुलाब की तरफ कोमल होंठ थे. मैंने १० मिनट तक दीदी को किश किया और मेरा एक हाथ दीदी की गांड को सहला रहा था. मैंने दीदी की गांड को कस कर दबा दिया.

दीदी: अह्हह्ह्ह्ह भाई, कितना किश करेगा. चल अब यहाँ से.
फिर हमने डिनर किया और एक डिस्को चले गए. वहा मैंने दीदी के साथ खूब डांस किया और दीदी की गांड में अपना लण्ड बहुत रगड़ा. दीदी आज बहुत ही सेक्सी लग रही थी. मेरी नजर उनकी क्लीवेज पर ही गड़ी हुई. दीदी सेक्सी डांस करके अपनी गांड और चुचे हिला रही थी.

दीदी: चल भाई अब रात हो गयी, घर चलते है.
मैं: दीदी अभी तो और भी प्रोग्राम है.
दीदी: और क्या प्रोग्राम फिक्स किया था.
मैं: दीदी तुम बुरा तो नहीं मानोगी
दीदी: बोल ना, नहीं मानूंगी

मैंने एक कंडोम का पैकेट निकला और दीदी को दिखा दिया.

मैं: दीदी यह था मेरा लास्ट प्लान अपनी गर्लफ्रेंड के साथ
दीदी: ओह्ह्ह्हह्ह्ह्हह .. तुमलोग यह करने वाले थे.
मैं: हाँ दीदी, मैंने एक होटल बुक किया हुआ है, जहा मैं अदिति को रात भर चोदने वाला था.
दीदी: पर भाई, यह ज्यादा हो जायेगा. हम यह नहीं कर सकते. तू मेरा भाई है
मैं: पर दीदी आपने ही तो बोला था की आप मेरी गर्लफ्रेंड हो.
दीदी: पर भाई यह कैसे कर सकते है.
मैं: ठीक है दीदी

मैं उदास होने की एक्टिंग करने लगा. दीदी को यह देखा नहीं गया.

दीदी: भाई तू सही में यह करना चाहता है.
मैं: दीदी आप मेरी गर्लफ्रेंड हो आज. और आज की रात सब अपनी गर्लफ्रेंड को चोदते है. आई लव यू दीदी.
मैंने दीदी को किश करने लगा. और उसकी गांड को खूब मसला

दीदी: मतलब तो मुझे चोदना चाहता है.
मैं: हाँ दीदी, आप जैसी सेक्सी माल को कौन नहीं चोदना चाहेगा
दीदी: ठीक है भाई, चलो फिर होटल में

फिर मैंने कार होटल की तरफ ले गया. दीदी मेरे बगल में बैठी हुई थी. आधी चूचियां उनकी नंगी दिख रही थी. दीदी ने शायद ब्रा नहीं पहनी थी, जिसके वजह से चूचियां और बड़ी लग रही थी. हर झटके के साथ चूचियां हिल रही थी और बाहर आने के लिए मचल रही थी. मेरा बुरा हाल था, एक तो रेड ड्रेस में दीदी बहुत सेक्सी लग रही थी ऊपर से उनकी तनी हुई नंगी चूचियां.

दीदी: तू खुस तो है न
मैं: दीदी यू आर सो स्वीट, दीदी आपको कोई प्रॉब्लम तो नहीं है
दीदी: भाई मैंने आज तक कभी किया नहीं है, और मैं तुझसे बहुत प्यार करती हूँ. मैं तेरी ख़ुशी के लिए कर रही हूँ
मैं: थैंक्स दीदी
दीदी: अच्छा यह बता तू सही मेरी चुदाई करना चाहता है.
मैं: हाँ दीदी, आप मुझे बहुत अच्छी लगती हो. आपके जैसे जिस्म मैंने आज तक किसी का नहीं देखा है.
दीदी: अच्छा, क्या पसंद है तुझे मेरे बदन में
मैं: दीदी आप पूरी की पूरी माल हो, इतनी बड़ी बड़ी चूचियों लेकर दिन भर भाई का लण्ड खड़ा किया है आपने. कितने रसीले आम है दीदी आपके, इनको तो मैं चूस लूँगा आज. दीदी क्या साइज है इनका?
दीदी: ३८ की है भाई..
मैं: उफ़फ़फ़फ़फ़ दीदी आज तेरा भाई इसे खूब चूसेगा..
दीदी: चूस लेना और खूब दबाना भी..
मैं: आपको देखकर मेरा लण्ड दिन भर खड़ा है.
दीदी: आज मैं इसे रिलीज़ कर देती हूँ

दीदी ने पैंट से मेरा लण्ड बाहर निकला और हिलने लगी. मैं बहुत मुश्किल से ड्राइव कर रहा था.
मैं: अह्हह्ह्ह्ह दीदी.. इसी लण्ड से आपकी बूर और गांड फाडूंगा
दीदी: मजा आ रहा है भाई.
मैं: दीदी थोड़ा इसे चूस लो.
दीदी ने फिर लण्ड आपने मुंह में लिया और चूसने लगी. क्या मजा आ रहा था. लण्ड काफी टाइट हो गया था.

मैं: अह्ह्ह्हह्ह्ह्हह..ओह्ह्ह्हह ..
दीदी: कितना बड़ा है भाई,
मैं: दीदी आप चिंता मत करो, आपकी पहली चुदाई आपका भाई यादगार बना देगा.

१० मिनट चूसने पर मेरा माल गिर गया और मैंने मूठ दीदी के मुँह में ही डाल दिया. फिर हम होटल पहुंचे और आपने कमरे में आ गए. मैंने कमरा बंद किया और दीदी को हग कर लिया.

दीदी: उफ्फ्फ्फ़ भाई थोड़ा छोडो
मैं: नहीं दीदी आज नहीं छोडूंगा आपको. पूरी रात चोदूंगा आपको.
फिर मैंने दीदी को किश किया, दीदी भी साथ देने लगी.

दीदी: आई लव यू भाई,
मैं: आई लव यू दीदी, यू आर सो सेक्सी
मेरा हाँथ दीदी की चूचियों को सहलाने लगा.

मैं: क्या जालिम चूचियां है दीदी आपकी. आपको पता नहीं इन चूचियों ने कितनी बार मेरा मूठ निकला है
दीदी: चूस भाई इनको, दबा दबा कर चूस

मैं दीदी की चूचियों को खूब जोर जोर से मसलने लगा. मैंने दीदी के ड्रेस के अंदर हाथ डाल दिया और चूचियों को दबाने लगा.
दीदी: अह्ह्ह्हह्ह्ह्ह .. भाई मजा आ रहा है..
मैं: मोना दीदी, क्या फुटबॉल के साइज की चूचियां है..

एक चूची को मैं चूसने लगा और आपने हाथो से दीदी की चुत्तड़ो को दबाने लगा..

दीदी: उईईईईई माँ..अह्हह्ह्ह्ह भाई. आग लग गयी है मेरे बदन में
मैं: क्या गांड है दीदी आपकी.

मैंने दीदी को पीछे से हग किया और अपना लण्ड दीदी की गांड में रगड़ने लगा और आपने हाथो से उनको चूचियों को दबाने लगा…

दीदी: बहनचोद …….. बहुत मजे दे रहा है.. आह्ह्ह्हह्ह
मैं: दीदी .. अह्हह्ह्ह्ह.

मैंने दीदी की बैक ज़िप खोल दी, दीदी ने ब्रा नहीं पहनी थी, जिससे उसकी चूचियां हवा में हिलने लगी. जिसे मैं खूब मसल रहा था.

दीदी: अह्हह्ह्ह्ह.. आईई… उउइइइइ माँ….. भाई अब चोद भी दे मुझे
मैंने दीदी की चड्डी निकल दी. दीदी का गदराया हुआ बदन मेरे सामने नंगा लेटा हुआ था. दीदी की चूत किसी काली के सामान लग रही थी. गोरी और अनचूदी हुई. मैं दीदी की बूर चाटने लगा. और जीभ से उसकी चुदाई..

दीदी: आइइइइइइइइइ.. अह्हह्ह्ह्ह.. क्या कर रहा है भाई.. अब रहा नहीं जाता.. चोद डाल मुझे
मैं: दीदी आपकी इस गदराये हुए बदन का पूरा मजा लूँगा मैं …
दीदी: भाई पहले लण्ड घुसा, चोद मुझे, ले ले अपनी जवान बहन के जिस्म का मजा.. भोग ले मुझे..

मैंने अपना सुपाड़ा दीदी की बूर में रखा और एक धक्का मारा. लण्ड बूर को फाड़ता हुआ आधा घुस गया..
दीदी: अह्ह्ह्हह.. उईईईईई माँ.. मर गयी..
मैं: बस दीदी आज आप औरत बन जाओगी.

फिर मैंने लण्ड बाहर खींचा और एक जोरदार शॉट के साथ लण्ड पूरा घुसा दिया.. दीदी की चूत से थोड़ा खून भी निकला
दीदी: बहनचोद.. फाड़ दिया तूने मेरा बूर.. इसीलिए लेकर आया था मुझे.. निकल बहुत दर्द हो रहा है.. उईईईईई
मैं ५ मिनट तक शांत रहा फिर. मैंने लण्ड अपना अंदर बाहर करने लगा. दीदी को भी अब मजा आने लगा.. और वो काफी मॉन करने लगी..

दीदी: अह्ह्ह्हह्ह्ह्ह.. ओह्ह्ह्हह्ह .. चोद भाई और चोद मुझे..
मैं: यह ले साली..

मैंने अब अपनी स्पीड बड़ा दी. लण्ड बहुत तेजी से अंदर बाहर हो रहा था..

दीदी: रोनित माय लव फ़क मी .. फ़क मी हर्डर
मैं: आई लव यू दीदी दीदी.. आज से आप मेरी गर्लफ्रेंड. रोज आपकी चुदाई करूंगा. कसम है दीदी आपको, यह बूर किसी और को दिया तो..
दीदी: और चोद भाई.. अह्ह्ह्हह्हह .. औउईईई.. आज से तू इस बदन का मालिक.

मैं दीदी की चूचियों को दबा दबा कर चोद रहा था.. हर शॉट के साथ दीदी को भी मजा आ रहा था.
दीदी: भाई.. अह्ह्ह्ह कोई अपनी बहन को इस तरह चोदता है क्या
मैं: उफ्फ्फ्फ़.. अह्ह्ह्हह.. दीदी आप बहुत सेक्सी हो .. इस बदन को सिर्फ मैं ही प्यार करूंगा और खूब चोदूंगा आपको
दीदी: भाई थोड़ा और तेज चोद .. मेरा आने वाला है
मैं: यह लो दीदी

मैंने अपनी स्पीड बड़ा दी.

मैं: अह्हह्ह्ह्ह .. दीदी आपकी बूर चोदू .. ुउउइइइइइइइइइ .. मैं झरने वाला हूँ..
दीदी: और चोद मुझे मेरे भाई … अह्ह्ह… मजा आ गया.

१० मिनट और चोदने के बाद मैं झड गया और मूठ दीदी के बूर में गिरा दिया.वैलेंटाइन डे मनाया मोना दीदी के साथ

This story वैलेंटाइन डे मनाया मोना दीदी के साथ appeared first on new sex story dot com

0 0 votes
Article Rating
Subscribe
Notify of
guest
0 Comments
Inline Feedbacks
View all comments